Home
Jeevan Parichaya
Sangh Parichaya
Guru Bhakti
Chaumasas
Sahitya Rachna
Jain Darshan
Tirthankaras Parichaya
Jain Festivals
Jain Tales
Mukhya Tirth Kshetra
Downloads
FAQ
About Us

२३. श्री १००८ पाश्र्वनाथ भगवान का परिचय

 

 

भगवान का चिन्ह :: सर्प
देवगति से पूर्व भव का नाम :: आनन्द
कहां से आये :: प्राणत
गर्भ कल्याण तिथि :: बैशाख कृष्ण दूज
जन्म कल्याण की तिथि :: पौष कृष्ण ग्यारस
जन्म नगरी :: वाराणसी
वंश :: उग्र
पिता का नाम :: अश्वसेन
माता का नाम :: वामादेवी
आयु :: सौ वर्ष
ऊंचाई :: नौ हाथ
वर्ण :: हरित
वैराग्य का कारण :: जातिस्मरण
दीक्षा की तिथि :: पौष कृष्ण ग्यारस
दीक्षा का समय :: पूर्वान्ह
दीक्षा नगरी :: वाराणसी
दीक्षा वन :: सुतापसाश्रम
दीक्षा पालकी :: विमला
दीक्षा वृक्ष :: देवदारू
दीक्षा समय उपवास :: अष्टमभक्त तृतीय
सह दीक्षित :: तीन सौ
प्रथम आहार नगरी :: द्वाराखेट
प्रथम आहार किसने दिया :: ब्रह्मदत्त
प्रथम आहार में क्या दिया :: गौ क्षीर से बने पकवान
छद्मस्थकाल :: चार मास
केवल ज्ञान तिथि :: चैत्र कृष्ण चैथ
केवल ज्ञान समय :: पूर्वान्ह
केवल ज्ञान का स्थान :: शुक्रपुर
केवल ज्ञान वन :: अश्ववन
केवल ज्ञान वृक्ष :: धव
समवशरण का व्यास :: सवा योजन
समवशरण में कुल मुनियों की संख्या :: सोलह हजार
समवशरण में कुल आर्यिकाओं की संख्या :: अड़तीस हजार
कुल गणधर :: दस
मुख्य गणधर का नाम :: स्वयंभू
मुख्य आर्यिका नाम :: सुलोका
कुल श्रावक :: एक लाख
कुल श्राविका :: तीन लाख
मुख्य श्रोता :: महासेन
केवल ज्ञान के पूर्व उपवास :: तेला तीन उपवास
कितने यतिगण सिद्ध हुए :: छः हजार दो सौ
अनुबद्ध केवली की कुल संख्या :: तीन
केवली काल का समय :: चार माह कम सत्तर वर्ष
मोक्ष की तिथि :: श्रावण शुक्ल सप्तमी
मोक्ष का समय :: पूर्वान्ह
मोक्ष का स्थान :: सम्मेद शिखर (सुर्वणभद्रकूट)
साथ में मोक्ष जाने वालों की संख्या :: कोई नहीं
योग निवृत्ति :: एक मास पूर्व
मोक्ष के समय का आसन :: खड्गासन
भगवान के समय चक्रवर्ती :: कोई नहीं
भगवान के समय बलदेव :: कोई नहीं
भगवान के समय नारायण :: कोई नहीं
भगवान के समय प्रतिनारायण :: कोई नहीं
भगवान के समय रुद्र :: महादेव
भगवान के समय यक्ष :: मातंग
भगवान के समय यक्षिणीयां :: पद्मावती
भगवान का विशेष पद :: बालब्रह्मचारी
     

Copyright © 2003. All rights reserved PHOENIX Infotech, Lko.